Dividends Earning पर कितना tax लगता हैं (हिन्दी में)

dividend income tax rules 2023

अगर आप शेयर मार्केट (या mutual fund) में अपना पैसा निवेश करते है तो आप बहुत तरीके से फायदे कमा सकते हैं। वैसा ही एक तरीका हैं dividends मिलना। अगर आप किसी कंपनी के शेयर या फिर किसी म्यूचूअल फंड में निवेश करते हैं और सब कुछ सही सही रहा तो आपको अपने शेयर या number of units के मुताबिक dividends मिलता हैं। अक्सर ये डिविडेन्ड एक अच्छा कमाई का जरिया हैं और जहा कमाई होता हैं वहाँ पर tax देना पड़ता हैं। इस आर्टिकल में dividends पर कैसे tax लगता हैं उसके बारे में बताया गया हैं।

Dividends क्या होता हैं?

जब भी किसी कंपनी को फायदा होता हैं तो वो कंपनी उस प्रॉफ़िट का कुछ हिस्सा अपने शेयर होल्डर्स को देती हैं। उस हिस्से को ही हम Dividend कहते हैं। गौर करने वाली बात ये हैं की Dividend देना हैं की नहीं ये पूरी तरह से कंपनी के ऊपर निर्भर करता हैं। कंपनी चाहे तो उन प्रॉफ़िट वाले पैसे को बिजनस बढ़ाने में भी लगा सकती हैं।

अक्सर Dividends cash के रूप में मिलता हैं पर कुछ कंपनी इसे शेयर के रूप में भी दे सकती हैं जिसे हम शेयर dividend या stock dividend कहते हैं।

  • Cash Dividends: ऐसा dividend बहुत ही प्रचलित हैं। इसमे कंपनी आपको अपने शेयर के हिसाब से कुछ पैसा देती हैं।
  • Stock Dividends (बोनस Shares): इसमे आपको अपने शेयर के ऊपर कुछ शेयर मिलते हैं। उदाहरण के लिए आपके पास 100 शेयर हैं और कंपनी ने 5% का शेयर dividend दिया तो आपके कुल 105 शेयर हो जाएंगे। आप इसे ऐसे भी समझ सकते हैं की आपको हर 20 शेयर के लिए एक शेयर मिल रहा हैं।

Dividend कितना देना हैं ये कंपनी के directors तय करते हैं और ये बहुत से चीजों पर निर्भर करता हैं जैसे की कंपनी ने कितना प्रॉफ़िट कमाया, कितना लोन हैं कंपनी के ऊपर या फिर कितना cash हैं इत्यादि। मतलब ये की कंपनी का financial हिसाब किताब कैसा हैं उस पर निर्भर करता हैं की dividend कितना देना हैं।

Dividends कितने तरह के होते हैं

Dividends मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं – Interim और Final।

  • Interim Dividend- इसे कंपनी साल के बीच में जारी करती हैं जब उनके accounts और profit loss इत्यादि जैसी financial data का हिसाब किताब नहीं हुआ रहता हैं। ये अब तक के प्रॉफ़िट के हिसाब पर जारी किया जाता हैं और साल में कभी भी दिया जा सकता हैं। Interim Dividend Final Dividend से कम ही होता हैं।
  • Final Dividend- इसे कंपनी अपने AGM (Annual General Meeting) में जारी करती हैं। ये एक वार्षिक चीज हैं और सारी financial हिसाब किताब करने के बाद जारी किया जाता हैं।

Dividends पर tax कितना लगता हैं

किसी भी dividend (शेयर मार्केट या म्यूचूअल फंड) पर आपको अपने टैक्स स्लैब के हिसाब से टैक्स लगता हैं। FY 23-24 के लिए tax स्लैब आप नीचे देख सकते हैं।

  • Up to ₹3 lakh: Nil
  • ₹3 lakh to ₹6 lakh: 5%
  • ₹6 lakh to ₹9 lakh: 10%
  • ₹9 lakh to ₹12 lakh: 15%
  • ₹12 lakh to ₹15 lakh: 20%
  • ₹15 lakh and above: 30%

अब ऐसा इसलिए क्यूंकी Dividend के कमाई को Income from other sources देखा जाता हैं। मतलब की अगर आपकी taxable इंकम अगर 5 लाख हैं और आपने dividend से 50 हजार कमाई की हैं तो आपको कुल 5.5 लाख के ऊपर tax देना होगा। नीचे आप हिसाब देख सकते हैं:

  • taxable इंकम = 5 लाख
  • Dividend इंकम  = 50 हजार
  • कुल इंकम = 5 लाख + 50 हजार = 5.5 लाख
  • कुल tax = 3 लाख तक NIL tax हैं तो आपको 5.5-3 = 2.5 लाख पर 5% जो की 12500 रुपया होगा।

Dividend Income पर TDS कितना कटता हैं 

अगर आपकी Dividend की इंकम 5000 रुपये से ज्यादा हैं तो कंपनी आपको 10% TDS काटकर dividend देता हैं (शेयर और म्यूचूअल फंड दोनों के लिए)। उदाहरण के लिए अगर आपको 10 हजार की dividend कमाई हुआ हैं तो कंपनी आपको 9000 रुपये ही देगा। 1000 रुपये वो TDS काट लेगा।

Dividend Income पर advance में टैक्स जमा कर सकते हैं 

अगर एक साल में आपकी कुल dividend इंकम 10000 रुपये से ज्यादा है तो आप advance में भी कुछ tax जमा कर सकते हैं।

कुछ टिप्स जिसे आप इस्तेमाल कर सकते हैं

  • ऐसे म्यूचूअल फंड में निवेश करिए जो tax-free dividend देते हैं।
  • म्यूचूअल फंड में आप growth option वाले fund को चुन सकते हैं। वो डिविडेन्ड न देकर आपका पैसा फिर से निवेश कर देते हैं। ऐसे मे आपका कुछ भी TDS नहीं कटेगा और आप tax से बच पाएंगे। हालांकि जब आप अपना फंड बेचेंगे तो STGC और LTGC जो बनता हैं वो लगेगा।
  • चुकी dividend इंकम आपके कुल इंकम मे जुड़ता हैं तो आप ऐसे planning करिए की आप कुछ deductions दिखा पाए।
  • Form 15G/15H भर कर आप कंपनी को TDS नहीं काटने के लिए बोल सकते हैं। पर ये तभी होगा जब आपका कुल taxable इंकम exemption limit जो की 3 लाख से कम होगा।

अंत में

शेयर मार्केट और म्यूचूअल फंड में Dividends एक अच्छा जरिया हैं कमाई करने का। हालांकि ये कंपनी के ऊपर और आपके पास कितने शेयर हैं उसके ऊपर निर्भर करता हैं। अगर आप ये समझ गए की dividend कैसे काम करता हैं तो आप अपने Dividend से होने वाली कमाई पर कम से कम tax देना सिख पाएंगे। किसी भी निवेश में tax का बहुत महत्व रहता हैं। इसलिए आप अपने Dividend से होने वाली कमाई को अच्छे से मैनेज करिए ताकि आपका tax कम से कम लगे।

उम्मीद करते हैं आपको कुछ जानकारी मिली होगी। अगर आपको कुछ भी समझ न आए तो आप नीचे कमेन्ट करके पुछ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Index