शेयर मार्केट में Downward Averaging क्या होता हैं?

downward averaging meaning in hindi

मार्केट में लाखों strategies हैं जिससे आप पैसा कमा सकते हैं। अब जरूरी नहीं हैं की हर एक Strategy आपके लिए पैसा कमा कर देगा, पर अगर आपने सही तरीके से इस्तेमाल किया गया तो पक्का आपको प्रॉफ़िट होगा। ऐसा ही एक Strategy हैं Downward Averaging। ये पूरी तरह से निवेशकों के लिए हैं, पर अगर कोई जबाज़ trader इस्तेमाल करके पैसा कमा ले तो वो उसका अपना दिमाग।

शेयर मार्केट का सबसे पहला नियम हैं कम में खरीदो और ज्यादा में बेचो। मार्केट में कीमत ऊपर नीचे होते रहती हैं। और इसी का इस्तेमाल इस Downward Averaging में होता हैं। इस आर्टिकल में Downward Averaging क्या होता हैं? Downward Averaging कैसे और कब करें? Averaging से प्रॉफ़िट कैसे बढ़ाए इत्यादि के बारे में जानकारी दी गई हैं।

Downward Averaging Meaning in हिन्दी

पहले तो हमे Averaging समझना होगा। और इसे समझने का सबसे आसान तरीका हैं एक उदाहरण। मान लीजिए आपने किसी कंपनी के 5 शेयर 10 रुपये में खरीदे। मतलब आपका कुल निवेश 50 रुपया हो गया।

अब अगर शेयर की कीमत 12 रुपया हो गया और फिर आपने 5 शेयर खरीदे। तो आपको 12 x 5 = 60 रुपये लगेंगे। और आपका कुल निवेश 50 + 60 = 110 रुपये हो गया हैं। और आपके पास कुल शेयर जो हैं वो 10 शेयर हैं।

अगर आपने पहले 12 रुपये पर शेयर नहीं खरीदे होते तो आपको हर शेयर पर 2 रुपये का प्रॉफ़िट हो रहा था। और कुल प्रॉफ़िट 10 रुपये का था।

पर चूंकि आपने निवेश किया तो अब आपका कुल निवेश हैं 110 रुपये पर 10 शेयर मतलब की 11 रुपये एक शेयर का कीमत हैं। और आपका 12 रुपये पर प्रॉफ़िट होगा – 10 रुपया। गौर करिएगा की अगर आपने बाद में जो 5 शेयर हैं वो नहीं खरीदे रहते तो आपको 14 रुपये पर प्रॉफ़िट होता 14 x 5 = 70 – 50 = 20। मतलब की हर शेयर पर 4 रुपये का। पर आपने Averaging की तो आपको हर शेयर पर 3 रुपये का ही प्रॉफ़िट हो रहा हैं।

आप नीचे ये पूरी चीजे देख सकते हैं।

कुल खरीदे हुए शेयर शेयर की कीमत  (Buying Price)निवेश राशि (Total Investment)मार्केट price (CMP) प्रॉफ़िट 
51050100
510501260 – 50 = 10 रुपया
5 (Averaging)12    (12 x 5 = 60)60 + 50 = 11012120 – 110 = 10 रुपया
1011  (Averaging के बाद) 1101430

ऊपर जो आपने देखा इस Upward Averaging कहते हैं। मतलब की कीमत ऊपर गई और आपने अपने portfolio में और शेयर खरीदे। आपको यहाँ पर अब तक समझ में आ गया होगा की Averaging कैसे काम करता हैं। और आपको Downward Averaging क्यू करनी चाहिए। हालांकि उदाहरण Upward Averaging का हैं पर आपको ये समझ में आ जाना चाहिए की Downward Averaging क्या होता हैं और कैसे काम करता हैं। पर फिर भी जब आप पहले से खरीदे हुए शेयर की कीमत गिरने पर और शेयर खरीदते हैं उसे ही Downward Averaging कहते हैं।

अब जैसे ऊपर के उदाहरण में आपका प्रॉफ़िट 4-3 = 1 रुपये से कम हो गया था, Downward Averaging में आपका loss कम हो जाएगा। आप खुद भी हिसाब करके देख सकते हैं।

जीतने शेयर आपने खरीदे उसको अपने कुल निवेश से भाग कर दीजिए बस आपका Average कीमत निकाल जाएगा। और जब शेयर की कीमत इस Average कीमत से ऊपर जाएगा तो आपको प्रॉफ़िट होगा और अगर नीचे गई तो आपका नुकसान।

Downward Averaging में शेयर की average कीमत नीचे जाती हैं और Upward Averaging में आपके hold किए शेयर की कीमत ऊपर जाती हैं। (आप ऊपर के उदाहरण में देख सकते हैं की आपके शेयर की कीमत पहले 10 थी और फिर 11 गई)

Downward Averaging क्यू करना चाहिए?

जैसा की ऊपर बताया गया की शेयर मार्केट में सबसे पहला नियम हैं कम में खरीदो और ज्यादा में बेचो। अब ऐसे में Downward Averaging आप तब करते हैं जब शेयर की कीमत और गिर रही हैं। अब इससे होगा क्या?

  • आपके average शेयर price घट जाएगी। मतलब की जितना पैसा आपने पहले एक शेयर के लिए दिया था उससे कम में आपको एक शेयर मिलेगा।
  • आपके कुल शेयर भी बढ़ेंगे और आपके प्रॉफ़िट होने के उम्मीद बढ़ जाएगी।
  • अगर आप किसी शेयर में फस गए हैं तो उससे निकालने में भी आसानी मिलती हैं।
  • जरूरी ये हैं की आपको सिर्फ वैसे शेयर में Downward Averaging करना हैं जिसमे आपको मालूम हैं की आज नहीं तो कल शेयर ऊपर जाएगा ही।
  • loss लेने से बचा जा सकता हैं, कम से कम मूलधन निकाल पाएंगे।

अब देखिए जाहीर सी बात हैं की आपको समझ में आ गया की downward averaging करना हैं बोलकर। पर कब करना हैं ये भी जानना जरूरी हैं।

Downward Averaging कब करना चाहिए

देखिए downward averaging ऐसा नहीं हैं की एक दम रिस्क फ्री हैं। पर हाँ अगर सही से किया जाए तो कम रिस्क हैं। नीचे कुछ परिस्थितीय दी गई हैं।

  • Company fundamentals: जब किसी न्यूज या temporary चीजों के कारण शेयर की कीमत नीचे गिरती हैं तो आप एक बार सोच सकते हैं। पर आपको ये देखना हैं की कंपनी का Financial रिकार्ड एक दम ठीक ठाक हो। कोई कर्ज ना हो, ग्रोथ अच्छी हो, वैगर वैगरा चीजे। जाहीर सी बात हैं की इसके लिए आपको Fundamental Analysis करने की जरूरत पड़ेगी। होता क्या हैं की कुछ कारण वस कंपनी की कीमत नीचे हो जाती हैं पर जैसे ही समय बीतता हैं तो वो अपने पुराने कीमत पर आ जाती हैं।
  • आपकी risk लेने की tolerance: तो साफ मालूम हैं की शेयर की कीमत गिर रही हैं। पर ये तो किसी को मालूम हैं नहीं की कितना गिरेगी और कब तक गिरेगी तो आपको इस चीज का भी ध्यान रखना चाहिए।
  • Available capital: देखिए भावना में नहीं बहना हैं। Diversification नाम की एक चीज होती हैं। अगर उसके हिसाब से आपका portfolio ठीक हैं तो Downward Averaging करने की जरूरत हैं नहीं। पर अगर आप अपने पैसे लगा सकते हैं तो आपको ये पता होना चाहिए मोटा मोटी आपका पैसा कितने समय के लिए और रहने वाला हैं।

Downward Averaging कब नहीं करना चाहिए

Downward Averaging से फायदा तो होता हैं पर आपका नुकसान भी हो सकता हैं।

  • जब शेयर गिरते ही जा रहा हैं : ये सबसे अच्छा समय हैं जब आप सिर्फ शेयर को देखते रहिए। अब अगर आपको ज्यादा से ज्यादा प्रॉफ़िट चाहिए तो आपको कम से कम दाम में शेयर को खरीदना होगा। और चूंकि शेयर गिरते ही जा रहा हैं तो बेहतर होगा की आप शेयर को गिर जाने दीजिए उसके बाद ही Averaging करिए।
  • Fundamental खत्म हो गया : अगर कंपनी किसी तरह से अब खत्म ही होने वाली हैं तो उसमे तो पहले निवेश ही ना करें। क्या फायदा हैं ऐसे कंपनी में निवेश करने का जो प्रॉफ़िट नहीं कमा पा रही हैं।
  • कंपनी पर भरोसा नहीं होना: बहुत बार ऐसा होता हैं की किसी scam, fraud के कारण शेयर की कीमत नीचे गिरती हैं। धीरे धीरे कंपनी अच्छा काम भी करने लगती हैं पर चूंकि अब निवेशको को डर लगता हैं इसलिए आप ऐसे कंपनी से दूरी बना कर रखे।

एक बोनस टिप

देखिए जब आप ETFs में निवेश करते हैं तो आप Downward Averaging को इस्तेमाल कर सकते हैं। अब जैसा की Indexes कभी खत्म तो होंगे नहीं, मतलब की आज नहीं तो कल वो ऊपर जाएंगे ही। और ऐसे जब भी मौका मिले या फिर Nifty, Sensex नीचे गिरे आप फाटक से थोड़े थोड़े निवेश कर सकते हैं।

निष्कर्ष

Downward averaging अगर सही से इस्तेमाल किया गया तो आपको लंबे समय में बहतू प्रॉफ़िट कमा कर दे सकता हैं। हालांकि इसमे भी आपको थोड़ा Analysis तो करना ही होगा, ऐसा नहीं हैं की हर बार जब जब शेयर की कीमत गिरे तो आप खरीद ले। मार्केट के उतार चढ़ाओ का फायदा उठाने के लिए ये Downward Averaging की strategy बहुत काम आती हैं।

3 thoughts on “शेयर मार्केट में Downward Averaging क्या होता हैं?

  1. I’ve been surfing online greater than three hours
    these days, but I by no means found any attention-grabbing article like
    yours. It’s beautiful value enough for me. In my view, if all website owners and bloggers made just right content material as you probably did, the net can be a lot more useful than ever before.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Index