Support & Resistance क्या होता हैं? Support & Resistance in Hindi

support & resistance kya hai

अगर आप शेयर मार्केट में नए हैं या फिर मार्केट के बारे में आपकी रुचि हैं, तो सबसे पहले आपको Technical Analysis में Support और Resistance के बारे में जानने की जरूरत हैं। Technical Analysis बहुत बड़ा विषय हैं पर सबसे बुनियादी चीज अगर कुछ हैं तो वो हैं Support और Resistance।

बहुत से अच्छे निवेशक और Traders सिर्फ Price Action की मदद से लाखों रुपये कमाते हैं। और ये कहना गलत नहीं हैं की बिना Support और Resistance जाने आप Price Action Trading नहीं कर पाएंगे। मतलब की बिना Support और Resistance के आप Technical Analysis नहीं कर पाएंगे। इस आर्टिकल में Support और Resistance क्या होता हैं? Support & Resistance Meaning in Hindi? Support और Resistance कैसे काम करता हैं ? शेयर मार्केट में आप Support और Resistance को कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं? और किसी भी चार्ट पर आप Support और Resistance कैसे निकालेंगे।

Support और Resistance समझने से पहले आपको कुछ बुनियादी चीजे समझनी होगी:

  • शेयर की कीमत अलग अलग trend मे ऊपर नीचे होती हैं। कुल मिलाकर मार्केट में 3 trend हैं – Uptrend, Downtrend और Sideways Trend।
  • जो चीजे मार्केट में पुराने समय में हुआ वो चीजे फिर से होंगी – ऐसा अनुमान लगाया जाता हैं।
  • Uptrend में कभी भी कीमत लगातार ऊपर नहीं जाता हैं, वो पहले ऊपर जाता हैं, फिर नीचे आता हैं और फिर से ऊपर जाने लगता हैं। और ऐसे ही ये Cycle चलता ही रहता हैं। Downtrend में भी इसी तरह होता हैं।
  • ट्रेंड को पहचानने के लिए आपको चार्ट देखना होगा और ये आप अलग अलग समय में देख सकते हैं।
  • Sideways trend में कीमत एक Zone या दो कीमतों के बीच में ऊपर नीचे होता रहता हैं।

अब Support aur Resistance सीखने से पहले एक चीज ये जरूरी हैं की आप बिना पूरी जानकारी के सिर्फ Support और Resistance पर अपने पैसे निवेश या trade मत कर दीजिएगा।

Support Meaning in Hindi| शेयर मार्केट में Support क्या होता हैं?

अगर आप Support का हिन्दी अनुवाद करें तो वो सहारा/समर्थन होता हैं। शेयर मार्केट में आप इसे ऐसे समझिए की कीमत गिर रहा था और Support ने उसे गिरने से बचा दिया। यहाँ पर Support कोई इंसान या बाहरी न्यूज नहीं हैं। देखिए जब कीमत गिरना शुरू होती हैं तो इसका मतलब होता हैं की Sellers उन्हे बेच रहे जिसके कारण शेयर की कीमत नीचे जा रही हैं।

अब शेयर की कीमत को गिरने से रोकने के लिए हमे शेयर को खरीदना होगा। और जो खरीदेगा वो Buyers हैं।  मतलब की Support वो लोग देते हैं जो Buyers हैं। या यू बोलिए की जिस भी कीमत पर Buyers लोगों ने शेयर को खरीदना शुरू कर दिया वो ही कीमत ये Support हैं। देखिए अब ऐसा नहीं हैं की सिर्फ एक ही Support होगा। एक चार्ट पर आपको अलग अलग Support Zones दिख सकते हैं।

एक बात यहाँ गौर करने वाली हैं की सपोर्ट सिर्फ एक कीमत नहीं होता हैं। वो एक Range में भी हो सकता हैं। उदाहरण के लिए अगर शेयर 150 रुपये से गिर रहा हैं और Buyer के लिए 100 रुपये अगर खरीदने वाला कीमत हैं तो सिर्फ 100 रुपये ही Support level नहीं होता हैं। ये Support 100-105 तक हो सकता हैं। मतलब की support सिर्फ एक कीमत ना होकर एक Zone होता हैं। चलिए अब इन सभी चीजों को एक उदाहरण से समझते हैं:

support aur resistance kya hota hain

ऊपर आप NIFTY का Weekly चार्ट देख सकते हैं। इसमे आपको आसानी से दिखाई देगा की 15210 के आस पास जैसे ही कीमत गिरा Buyers मार्केट में आ गए और कीमत यहाँ से ऊपर जाने लगा। ऐसे ही अगर देखेंगे तो 17000 के आस पास भी एक Support आपको दिखाई दे देगा जिसे यहाँ पर नहीं खिचा गया हैं। ऐसे ही Support को चार्ट में plot कर सकते हैं।

कुछ major Supports होते है और कुछ minor। आप इसे चार्ट में देख कर खुद भी अनदाज़ लगा सकते हैं। Major का मतलब हुआ ही की कीमत बार बार वहाँ से ऊपर जा रहा हैं। और minor Support का मतलब हुआ की कीमत कभी वहा आता हैं फिर ऊपर नीचे होते रहता हैं।

Resistance Meaning in Hindi| शेयर मार्केट में Resistance क्या होता हैं?

देखिए Resistance का मतलब हुआ की विरोध/बाधा। अगर आप Support को समझें होंगे तो आपको Resistance के बारे में पढ़ने की जरूरत नहीं हैं। बस चीजों को उलटा कर दीजिएगा।

Resistance में क्या होता हैं की कीमत ऊपर जा रही थी और एक कीमत आने पर सारे Sellers लोगों ने अपने शेयर बेच दिए। मतलब की उन्होंने ये विरोध किया की हम कीमत को ऊपर नहीं जाने देंगे। ये मानसिकता आप मार्केट में लगाकर थोड़ा देखिए। कीमत ऊपर नहीं जाने देंगे का मतलब हुआ की शेयर अब Overvalued हो गया हैं, Overbought हो गया हैं, जितनी औकात हैं कंपनी की उससे ज्यादा कीमत हो गई। ये आपको समझाने के लिए हैं।

अगर किताबी भाषा में बोला जाए तो कंपनी की Valuation अधिक हो गई हैं जो की मार्केट के नजर में सही नहीं हैं और इसलिए जिनके पास भी शेयर थे उन्होंने अपने शेयर बेचना शुरू कर दिया। अब जरूरी नहीं हैं की शेयर की कीमत बस इन सब चीजों के कारण ही गिरे। बहुत सी चीजे होती हैं एक शेयर की कीमत को ऊपर और नीचे ले जाने में।

ऊपर के उदाहरण में ही आप देख पाएंगे की Nifty 18900 एक Resistance था जो की जून 2023 में टूट गया। और यही Resistance फिर अकतूबर 2023 में एक Support का काम किया हैं। और आज के तारिक में Nifty अपने Resistance को तोड़कर ऊपर जा रहा हैं।

यहाँ पर आपको ये एक नया चीज मिला होगा की Resistance ही Support बन गया हैं। ऐसा मार्केट में होते रहता हैं। कभी Support Resistance बनेगा और कभी Resistance Support बनेगा। ऐसा जरूरी नहीं है की हर बार होगा पर मार्केट के पूरी मानसिकता के ऊपर ये निर्भर करता हैं। नए नए निवेशको का मार्केट में आना, पुराने निवेशको का एंट्री और Exit पॉइंट ये सब निर्भर करता हैं। इसके अलावा और भी कारण होते हैं।

support resistance क्या होता हैं?

Support और Resistance से शेयर मार्केट में कैसे पैसे कमाए?

अगर आपको इतनी सी बात समझ में आ गई हैं तो अब Support और Resistance का शेयर मार्केट में क्यू इतना मतलब हैं ये समझते हैं। जब कीमतें नीचे जा रही थी तो ये Support level ये बताता हैं की कीमत अपने Support तक तो जरूर आएगी। और ठीक उसी तरह कीमत ऊपर जाती हैं तो अपने Resistance level तक जरूर जाएगी। अब ऐसा जरूरी नहीं हैं पर ये अनुमान लगाया जाता हैं। और ये भी देखा जाता हैं की कीमत कैसा बर्ताव कर रही हैं अपने Support और Resistance के पास।

Support क्या बताता हैं:

  • कीमतों का गिरना अपने Support पर शायद बंद हो या धीरे हो।
  • मार्केट में support level पर buyers ज्यादा हैं और Sellers कम हैं।
  • कीमत यहाँ से bounce करके ऊपर जाने की शक्ति रखता हैं या फिर ये टूट कर शेयर को और नीचे किसी दूसरे support पर ले जाए।
  • Support हमेशा मार्केट कीमत (CMP) से कम ही होगा। मतलब अगर 100 रुपये में कोई शेयर trade हो रहा हैं तो उसका support लेवल 100 से कम ही होगा।
  • कीमतों का ऊपर जाना अपने Resistance पर शायद बंद या धीरे हो जाएगा।
  • मार्केट में अब Sellers ज्यादा हावी हो गए हैं और Buyers मार्केट से निकाल गए हैं।
  • कीमत यहाँ से bounce करके नीचे जाने की शक्ति रखता हैं या फिर Resistance को तोड़कर और ऊपर जा सकता हैं।
  • Resistance हमेशा मार्केट कीमत (CMP) से ज्यादा ही होगा। मतलब अगर 100 रुपये में कोई शेयर trade हो रहा हैं तो उसका resistance लेवल 100 से ज्यादा ही होगा।

क्या Support Resistance सभी शेयर में इस्तेमाल हो सकता हैं?

जी हाँ, आप किसी भी तरह की trading करते हो, चाहे वो Equity हो या Future & Options। Support और Resistance technical analysis का हिस्सा हैं और चार्ट पैटर्न में इसका इस्तेमाल होता ही हैं। आप इसे 1 मिनट, 3 मिनट 5 मिनट, 1 घंटा, 1 हफ्ता या 1 महिना किसी भी चार्ट पर इस्तेमाल कर सकते हैं। पर ध्यान रखिए की समय सीमा ज्यादा होने से आपको एक अच्छा levels पता चलता हैं।

Breakouts क्या होता हैं?

देखिए अभी तक आपने समझा की Support और Resistance से कीमत घूम जाता हैं। पर ये जरूरी नहीं है की हर बार हो। ऐसा हो सकता हैं की वो Support या Resistance को तोड़ दे। इसे ही हम breakouts बोलते हैं। अब ऐसा होने के बहुत से कारण हो सकते हैं। पर जब भी breakout होता हैं तब ये चीज ध्यान में रखिए की वो Fake Breakout ना हो। मतलब की उस breakout में Volume होना चाहिए।

Support Resistance का पूरा उदाहरण

मान लीजिए कोई शेयर हैं xyz। आपने इसका technical analysis किया हैं और इसका support कुछ 100 रुपये हैं और Resistance 150 रुपये हैं। CMP 115 रुपये हैं। अब मान लीजिए शेयर नीचे गिरकर 100 पर अपना support लिया हैं फिर 5 रुपये और गिरकर 95 हो गया। यहाँ पर जो 100 के नीचे गया (अपने support को तोड़ दिया) वही Breakout हैं। मतलब की शेयर अपने अगले Support तक जाएगा यानि की और गिरेगा। अब अगर इस समय Volume अच्छी नहीं होगी तो वो एक Fake Breakout हैं और शेयर ऊपर जा सकता हैं।

अब अगर ये Fake Breakout हुआ तो आप यहाँ पर Buy कर सकते हैं और शेयर अब धीरे धीरे ऊपर अपने Resistance तक जाएगा जो 150 रुपये हैं। तो आपने 95 पर Buy किया हैं और आपको 150 का टारगेट मालूम हैं। अब ठीक यही चीज Resistance के पास भी होगा, resistance अगर टूटा मतलब की कीमत 160 गई और इस बार Volume अच्छी हैं मतलब ये जो Breakout हैं ये सही है। तो शेयर की कीमत अपने अगले Resistance तक जाएगा। अगर ये 160 शेयर की सबसे ज्यादा कीमत हैं तो अब ये निवेशको के ऊपर निर्भर हैं की वो Selling कहा करते हैं और Resistance कहा बनती हैं।

इस चीज का इस्तेमाल करके आप अच्छे रिटर्न कमा सकते हैं। जाहीर सी बात हैं की आपको ये मालूम होना चाहिए की ये सब एक अनुमान हैं। मार्केट में कब क्या होगा कोई नहीं जनता हैं। तो आप सोच समझ कर ही Trade लीजिए।

निष्कर्ष

उम्मीद हैं आपको Support और Resistance के बारे में जरूरी चीजे समझ में आई होंगी। अगर आपको कुछ समझ में ना आए तो आप नीचे कमेन्ट करके पुछ सकते है। ध्यान रखिए की पूरी जानकारी के बिना निवेश ना करें।

2 thoughts on “Support & Resistance क्या होता हैं? Support & Resistance in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Index