सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (SWP) क्या होता हैं? रिटाइअर्मन्ट की तगड़ी प्लैनिंग SWP के साथ

SWP kya hota hai?

क्या आप जानते है की आप अपने निवेश से एक regular income कमा सकते है वो भी बिना कुछ किए। और ये लेख FD के उपर नहीं है। जैसा कि हर कोई जानता है की SIP एक अनुशासित तरीका है पैसों को निवेश करने का। अब ये पैसा आप कहा निवेश करते है ये आपके ऊपर है। बहुत से लोग म्यूचुअल फंड्स में निवेश करते हैं और कुछ लोग स्टॉक्स में करते हैं। देखिए SIP का मतलब है आप हर महीने किसी तारिक को कुछ पैसा किसी भी ऊपर दिए गए तरीके से निवेश करते हैं। अब आपने निवेश तो कर दिया पर उन पैसों को निकालना कब हैं ये चीज सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (SWP) से आप समझ सकते है।

सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (SWP) क्या होता हैं?

SWP पैसों को निकालने का तरीका है जिसमे आप अपने निवेश किए हुए पैसों को ऐसे प्लानिंग करे जिसमे हर महीने आप एक रकम निकल पाए। SWP और SIP में फर्क इतना है की SIP चालू करने के लिए आपको पैसों की एक मोटी रकम की जरूरत नहीं पड़ती हैं लेकिन SWP चालू करने के लिए आपको एक मोटी रकम चाहिए। अब ये रकम आपकी निवेश की हुई पैसे हो या फिर आपकी ग्रेच्यूटी या फिर कोई प्रॉपर्टी बेच कर जमा की गई पैसा। मतलब ये ही है की आपको एक अच्छी खासी रकम चाहिए जिस से आप ब्याज भी कमा पाए और महीने की अपनी खर्च भी।

सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (SWP) और फिक्स्ट डिपॉजिट (FD) में अंतर

SWP को आप FD se तुलना कर के आसानी से समझ सकते है। आप FD में पैसों को बैंक में रखते है और उसपर अपनी मर्जी से मासिक, या तिमाही या सालाना ब्याज कमा सकते है। FD में आपको मालूम है की कितना ब्याज मिलेगा और आप उसमे ज्यादा छेड़ छाड़ नही कर सकते है। अब SWP में क्या होता है की आप अपने निवेश किए हुए पैसों को म्यूचुअल फंड्स के जैसे ही अपनी महीने की निकालने वाली पैसों को खुद सेट कर सकते है। अब यहां पर आपके दिमाग में ये सवाल आ रहा होगा की आपका पैसा अगर आप हर महीने निकालेंगे तो खत्म हो जाएगा , बस वही पर SWP का जादू है। अगर अच्छे से कैलकुलेशन करके महीने की निकालने वाली राशि को सेट किया जाए तो आपका पैसा कभी खत्म नहीं होगा।

सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (SWP) में कैसे निवेश करें?

SWP के बारे सब कुछ समझना बहुत आसान हैं। पर सबसे पहले ये जानना जरूरी है की बहुत से SIP, SWP का ऑप्शन देते हैं। बस आपको वो चुनिंदा SWP वाले SIPs खरीदने होंगे। अब इस SIP में आपके पैसों होने चाहिए जितना भी आपको जरूरत हैं, चाहे वो SIP से निवेश किया हुआ पैसा हो या एक ही बार में निवेश किया हुआ मोटी रकम। आप अपनी SWP तभी चालू कर पाएंगे जब आपकी निवेश की हुई राशि पर्याप्त होगी।

आपकी SIP में आप देख पाएंगे की वो SWP के लिए है की नहीं। आपको बस अपनी निवेश की हुई sip को सिलेक्ट करके उसके डिटेल्स मे जाना हैं। नीचे दी उदाहरण मे आप देख सकते है की SWP का ऑप्शन दिया हुआ है।

SWP mein nivesh kaise kare
SWP mein nivesh kaise kare

सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (SWP) में निवेश करने का बेस्ट तरीका हैं की अगर आप कम रिस्क लेना चाहते है तो debt में निवेश करिए और अगर आप रिस्क ले सकते है तो Equity में या फिर दोनो के कॉम्बिनेशन में। सब कुछ निर्भर करता है की आपकी उम्र कितनी है और आप कितना रिस्क ले सकते है। देखिए SWP बस एक withdrawal प्लान हैं जो की आपके पैसों को ही वापस करता है। इसलिए कौन सा म्यूचुअल fund में निवेश करना है ये जरूरी हैं।

सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (SWP) कैसे काम करता हैं?

SWP करता ये है की आपने जो SIP में यूनिट्स खरीदे है वो ये SWP हर महीने उसमे से थोड़े थोड़े बेचना शुरू करता है जिस से आपका पैसा आपको एक कमाई कर के देता है। अब सवाल ये है की ऐसे SWP वाले SIPs में आपका जो पैसा है वो भी बढ़ेगा तभी तो आपको लंबे समय तक महीने के पैसे मिलेंगे। ऐसा नहीं होना चाहिए की आपका निवेश किया हुआ पैसा खत्म हो गया कुछ ही साल में इसलिए आपको SIP चुनने वक्त जो नियम काम आते है वही नियम यहां भी है। तभी तो आप एक अच्छा रिटर्न पा सकेंगे।

सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (SWP) कैलक्यूलेटर को कैसे समझे ?

SWP Calculators

SWP कैलक्यूलेटर को इस्तेमाल करने से पहले आप एक बार ऊपर दिए गए उदाहरण को देख लीजिए।

मान लीजिए आपकी उम्र 45 वर्ष है और आपने 45 वर्ष की उम्र तक एक SIP में निवेश करके तकरीबन 10 लाख रुपया जमा कर ली है। अब अगर आप उस SIP का SWP करते है जिसमे आप हर महीने 10000 रुपया निकलते है। तो आपका पैसा कम से कम आपको 2038 तक (15 साल बाद) कमा कर देगा। ऊसके बाद भी आपके पास अंतिम मूल्य बच ही जाएगा। अब देखिए वो SIP जिसमे आपने SWP लगाया है उसको माना गया हैं की वो कम से कम 10% का रिटर्न देगा। आप इस कैलक्यूलेटर का अपने मर्जी के हिसाब से फेर बदल कर सकते है। उस से आपको सही से अनुमान लगाने मे आसानी होगी।

सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (SWP) में हर महीने कितना पैसा निकालना सबसे सही है?

अब एक सवाल जो बहुत कॉमन है की आपको हर महीने कितना पैसा सेट करना चाहिए निकालने के लिए । अब इसका एक standard रूल है । अगर आप इस रूल के हिसाब से अपने पैसे की निकासी राशि सेट करेंगे तो आपका पैसा कभी खत्म नहीं होगा। कंपाउंडिंग का असर टाइम पर बहुत डिपेंड करता है 1% भी इंटरेस्ट रेट बहुत ज्यादा फर्क ला देगा SWP में। वापस रूल पर आए तो आपको अपने निवेश किए हुए राशि का 5–6% पैसा ही सालाना निकालना हैं। ये रूल कोई फिक्स्ड रूल नहीं हैं, गणित की आसान जोड़ घटाव हैं। तो अगर आपने 100 रुपया निवेश किया है तो आपको सालाना 5-6 रुपया ही निकालना है।

सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (SWP) के खर्चे कितने है?

SWP का कोई अलग से खर्च नहीं है। आपने जो SIP किया है उसी का खर्च है। हर एक SIP का Expense Ratio ratio होता है जो SIP को मैनेज करने वाले लोग लेते हैं। उसके अलावा exit load लगेगा। अगर आप एक साल के बाद SWP चालू करेंगे तो नही लगेगा क्योंकि ज्यादातर SIPs में exit load एक साल के बाद नही लगता हैं। और अंत में टैक्स लगेगा, मतलब वही capital gains tax जो इंटरेस्ट के उपर लगता है अगर अपनी इंटरेस्ट ज्यादा है तो। अच्छी बात ये है की TDS नही कटता है इसमें।

सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (SWP) क्यू नहीं करना चाहिए?

SWP  का सबसे बाद Disadvantage है की इसमे एक मोटी रकम चाहिए जो SWP को चालू करने के लिए जिसे हर कोई नहीं कर सकता है। इसके ज्यादातर इंवेसटोरस रिटाइअर्मन्ट वाले लोग ही होते है। और एक कारण ये है की म्यूचुअल फंड्स है तो रिस्क वही है क्युकी मार्केट के उपर पैसा है। जिस तरह  म्यूचूअल फंड और शेयर मार्केट अनप्रेडिक्टेबल है उसी तरह ये भी क्युकी पैसा बाजार में हैं। इसलिए बहुत जरूरी है की आप सब कुछ समझ कर ही निवेश करे क्युकी ऐसा हो सकता है की आपका ये मोटा रकम आपकी जीवन की कमाई हो।

अंतिम विचार

SWP एक बहुत ही अच्छा तरीका है जिस से आप पैसों को अच्छे से मैनेज करे। अब बैंक मे पैसे रखने से बेहतर है की आप थोड़ा सा sip/SWP  में निवेश करके आसानी से पैसे से पैसा कमा पाए। अगर आप एक समझदार ओर सतर्क इन्वेस्टर है तो 10-12% का सालाना रिटर्न कोई बड़ी बात नहीं है। एकदम आराम से आप वो चीज कर सकते है। हालांकि इस लेख में किसी भी तरह से SWP में निवेश करने के लिए नहीं बोल रहे है। ये बस शिक्षा के लिए जिस से आप एक बेहतर निर्णय ले सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Index